Breaking News

नई शिक्षा नीति के माध्यम से भारत पुनः पुराने गौरव को करेगी प्राप्त : अभाविप दरभंगा

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद दरभंगा जिला इकाई भारत सरकार द्वारा लागू नई शिक्षा नीति का पुरजोर स्वागत करती है। 


इस अवसर पर विश्वविद्यालय संयोजक पिंटू भंडारी ने कहा कि सबसे पहले तो वर्तमान सरकार इस बात के लिए बधाई के पात्र हैं कि मानव जैसे सक्षम एवं सकार प्राणी को संसाधन जैसे निर्जीव वास्तु यथा मानव संसाधन विभाग को शिक्षा विभाग के रूप में परिवर्तित कर मानव संपदा को एक सतत इकाई के रूप में माना। नई शिक्षा नीति में छात्रों को शिक्षा के अनुसार विषय के चुनाव में लचीलापन लाकर छात्रों के मनोवैज्ञानिक बोझ को कम करने का प्रयास किया गया , साथ ही शैक्षणिक गति के साथ अन्य सह गतिविधियां यथा खेलकूद ,कंप्यूटर प्रशिक्षण ,नौकासन, मत्स्य पालन, मधुमक्खी पालन ,डेहरी ,आदी जैसे रचनात्मक गतिविधियों को शामिल कर बेरोजगारी के समस्या पर नियंत्रण कर भारत को आत्मनिर्भर बनाया जा सकेगा नई शिक्षा नीति के अंतर्गत मानवीय एवं संवैधानिक मूल्यों के ज्ञान के अलावे नैतिकता पर जोर देकर भ्रष्टाचार, भाई भतीजावाद जैसे सामाजिक बुराइयों पर अंकुश लगाया जा सकेगा। 

        वहीं इस अवसर पर विभाग संयोजक सुमित सिंह ने कहा कि भारत अनेक सांस्कृतिक एवं अनेक भाषा बोलने जाने वाला देश है इस नाना संस्कृतियों एवं भाषाओं को मजबूत कर ही राष्ट्रीय भावना का विकास किया जा सकता है ।इस दृष्टिकोण से नई शिक्षा नीति के अंतर्गत बहु भाषा एवं सांस्कृतिक पर जोर देना एक स्वागत योग कदम है। वर्तमान परिवेश में तकनीकी के  उपयोगिता को नकारा नहीं जा सकता है ,नई शिक्षा नीति के अंतर्गत शिक्षण जैसे विधा में  तकनीकी के उपयोग पर जोर तो दिया ही गया है, साथ ही शिक्षा के उत्कृष्टता के लिए अनवरत प्रशिक्षण सकारात्मक परिसर  वातावरण उत्कृष्ट अनुसंधान कार्य एवं कार्य की अनवरत समीक्षा पर जोर दिया गया है ।आशा है कि नई शिक्षा नीति अपनाकर भारतवर्ष अपनी पुराने गौरव को तो प्राप्त करेगा ही साथी एक मजबूत एवं शैक्षणिक व्यवस्था का भी शुभारंभ हो सकेगा ।

No comments

कमेंट में गलत शब्दों का प्रयोग न करे